Life StyleTech

WhatsApp यूजर्स को बड़ा झटका,अब देने होंगे पैसे, फ्री सेवा हुई खत्म

WhatsApp users free service ended आप सभी के मोबाइल व्हाट्सप तो होगा और आप सभी लोग इसका उपयोग ज्यादातर लोग अपने फोन से बातचीत, वीडियो कॉल और चैंटिग के लिए WhatsApp का ही इस्तेमाल कर रहे हैं. इस बीच एक बुरी खबर आ रही है. जो की  आपको जानना जरुरी है ,जिसके बारें हम आपको इस आर्टिकल में

कंपनी ने घोषणा की है कि अब WhatsApp Business के लिए यूजर्स से चार्ज वसूला जाएगा WhatsApp users free service ended. इस बाबत कंपनी ने अपने आधिकारिक ब्लॉग से जानकारी दी है. बताते चलें कि वॉट्सऐप बिजनेस के पांच करोड़ से अधिक बिजनेस यूजर हैं.

किनको देना होगा पैसा जानिए 

जी दोस्त अगर आप नार्मल WhatsApp users है तो आपको चिंता लेने की जरूरत नही है क्योकि आपको कोई चार्ज नही देना होगा , इनका ये चार्ज केवल अवि  WhatsApp Business यूजर के लिए कंपनी ने  ये बात आपनी ब्लॉग में की जो की अगले अपडेट से लागु होगा अब देखना होगा की कितना पैसा लिया जाता है

WhatsApp Business यूजर हैं हम क्या करें आगे 

चलिए मित्रो हम आपको बताएँगे की आप आगे किया करें जिससे किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े आपको इस लिए पुरा आर्टिकल जरुर पढ़ लेवें

आपके कई दोस्त और रिश्तेदार व्हाट्सएप बिजनेस एप का इस्तेमल करते हैं। कई लोगों का मानना है कि व्हाट्सएप बिजनेस एप इस्तेमाल करने से वे किसी मैसेज का ऑटोमेटिक रिप्लाई कर पाते हैं, जबकि जेनरल एप के साथ यह सुविधा नहीं है।

अब जो लोग सिर्फ ऑटोमेटिक रिप्लाई के लिए व्हाट्सएप बिजनेस एप का इस्तेमाल करते हैं, उन्हें भी नए अपडेट के बाद पैसे देने पड़ सकते हैं। ऐसे में उनके लिए यही बेहतर होगा कि वे बिजनेस एप को डिलीट करके जेनरल एप को इंस्टॉल कर लें।

अपने जनधन खाते को कराये आज ही आधार कार्ड से लिंक, मिलेगा 5000 रुपये ,जानें क्या हैं स्कीम

WhatsApp ने अपने ब्लॉग पोस्ट से दी जानकारी

बिजनेस यूजर्स के लिए पे-टू-मैसेज ऑप्शन का ऐलान किया है. कंपनी ने कहा है, ‘हम बिजनेस ग्राहकों को दी जा रही कुछ सेवाओं को चार्जेबल करने जा रहे हैं, ताकि अपने दो अरब से ज्यादा कस्टमर्स को मुफ्त एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड टेक्स्ट, वीडियो और वॉयस कॉलिंग जैसी सुविधा उपलब्ध कराते रहे.’ हालांकि वॉट्सऐप ने इस बात का खुलासा नहीं किया है कि बिजनेस सर्विस के लिए कितना चार्ज किया जाएगा

छत्तीसगढ़ में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 01 लाख 57 हजार 815 मकान बनाने का लक्ष्य, चेक करें अपना नाम?

Back to top button
close