sarkari yojana cg 2022छत्तीसगढ़ सरकारी योजनाएँ 2022सीजी बिजली विभाग भर्ती 2022
Trending

सावधान! बैलेंस खत्म होते ही घर में छा जायेगा अंधेरा,मोबाइल की तरह छत्तीसगढ़ में बिजली के मीटर होंगे प्रीपेड

मीटर में होगा जितना पैसा, उतने की ही जलेगी बिजली, जानिए क्या है मामला | सावधान! बैलेंस खत्म होते ही घर में छा जायेगा अंधेरा

Chhattisgarh Smart Meter Plan :- दोस्तों बहुत जल्द पुरे छत्तीसगढ़ में बिजली का स्मार्ट मीटर लगने वाला है ,जो की बिलकुल आपके मोबाइल सीम कार्ड की तरह काम करेगा आप जितना रूपये का रिचार्ज करोवोगे उतना ही बिजली चला पाएंगे ,तो दोस्तों हो जाये अब सीजी स्मार्ट मीटर लगवाने के लिए तैयार आप भी स्मार्ट मीटर के विषय में जानना चाहते है, तो यहाँ पर आपको स्मार्ट मीटर क्या होता है, Smart Meter कैसे कार्य करता है और इसकी खासियत ,बिजली का मीटर कैसे लगवाएं के बारे में जानकारी प्रदान की जा रही है |

PMAY लिस्ट 2022 – प्रधानमंत्री आवास योजना की लिस्ट देखें

क्या है प्रीपेड स्मार्ट बिजली मीटर

प्रीपेड मीटर ठीक उसी तरह से काम करता है जैसे प्रीपेड मोबाइल, मतलब जितना पैसा उतनी बिजली. हालांकि देश के कई हिस्सों में प्रीपेड मीटर का इस्तेमाल होता है.जिसे रिचार्ज करना होता है. केंद्र सरकार के दफ्तरों, इंडस्ट्रियल यूनिट्स में प्रीपेड मीटर लगने के बाद इसे देश भर में लागू किया जाएगा.

chhattisgarh,bihar bijli smart meter,smart meter,smart prepaid meter bihar,how to start small mineral water plant business,how to start mineral water plant business,smart meter reading,omg! chhattisgarh,how to start mineral water plant business in india,smart prepaid meters,raipur chhattisgarh,smart meter electricity,smart electricity meter,chhattisgarh capital,smart meter details in hindi,smart prepaid electric meter,smart prepaid meters india

रीचार्ज नहीं कराया तो कट होगी बिजली

स्मार्ट मीटरों में इस तरह की सुविधा रहेगी कि अगर कोई उपभोक्ता प्रीपैड कनेक्शन लेकर रीचार्ज नहीं कराता है तो उसकी बिजली कट हो जाएगी। इसके लिए पॉवर कंपनी के कर्मचारियों को किसी उपभोक्ता के घर तक जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। कंट्रोल रूम से बिजली कट हो जाएगी। क्योंकि मीटर में ऐसी व्यवस्था रहेगी। रीचार्ज कराते ही मोबाइल में जिस तरह से सेवा वापस प्रारंभ हो जाती है। मीटर में भी वैसा ही होगा।

मुख्यमंत्री ने राज्य में लागू करने के संबध में विस्तार से चर्चा की

आपको बता दे की मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केंद्र सरकार के रिवेम्पड डिस्ट्रीब्यूशन सेक्टर स्कीम को आज सैद्धांतिक सहमति दे दी है। इसके तहत केंद्र सरकार सभी गैर कृषि उपभोक्ताओं के यहां प्रीपेड स्मार्ट मीटर लगाने जा रही है। इसके लिए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से केंद्रीय उर्जा मंत्री के साथ इस योजना को राज्य में लागू करने के संबध में विस्तार से चर्चा की। इस चर्चा में बिहार, गुजरात, बंगाल, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गोवा के ऊर्जा मंत्री और दमन-दीव के प्रशासक भी शामिल हुए।

CG Rojgar Panjiyan Online Kaise Kare | सीजी रोजगार कार्यालय में ऑनलाइन पंजीकरण

स्मार्ट मीटर की खासियत क्या है !

  1. स्मार्ट मीटर लग जाने के बाद ऊर्जा की बचत होगी और साथ ही में गरीब लोग भी बिजली का इस्तेमाल अपने मन मुताबिक़ कर सकेंगे !
  2. अब आप बिजली का बिल अपने हिसाब से जमा रिचार्ज करा सकते हैं !
  3. एक बार रिचार्ज करने के बाद आप अपने हिसाब से उसका यूज़ कर सकते हैं !
  4. स्मार्ट मीटर के लग जाने के बाद से मीटर में किसी भी तरह की गड़बड़ी की संभावना कम रहेगी
  5. बिजली विभाग पर किसी भी प्रकार का बकाया भार नहीं रहेगा

मार्च 2025 तक पूर्ण किए जाने का लक्ष्य

 इसे पुरे छत्तीसगढ़ सहित पुरे भारत में मार्च 2025 तक पूर्ण किए जाने का लक्ष्य है। इस डेडलाइन को दो बार और अधिकतम 6 महीने के लिए बढ़ा सकते हैं. हालांकि इसके लिए उन्हें वाजिब कारण भी बताने होंगे. नोटिफिकेशन के मुताबिक, धीरे-धीरे पूरे देश में मार्च 2025 तक प्रीपेड स्मार्ट मीटर लग जाएंगे.

E Shramik Registration, E-Shram Card, apply online ई-श्रम कार्ड (Labour Card) क्या है ? कैसे बनाये ?

छह हजार का एक मीटर

योजना के तहत लगाए जाने वाले स्मार्ट मीटर की कीमत छह हजार के करीब होगी। योजना में केंद्र सरकार से 15 प्रतिशत यानी नौ सौ रुपए प्रति मीटर के हिसाब से मिलेगा। बाकी 51 सौ रुपए पॉवर कंपनी देगी। छत्तीसगढ़ राज्य पॉवर कंपनी ने यहां के उपभोक्ताओं के हिसाब से केंद्र सरकार को योजना के लिए प्रस्ताव बनाकर भेज दिया है। वहां से मंजूरी मिलते ही योजना पर काम प्रारंभ होगा। यूं तो यहां पर 55 लाख से ज्यादा उपभोक्ता हैं। लेकिन कृषि पंपों के साढ़े पांच लाख कनेक्शनों में ये मीटर नहीं लगेंगे। इसी के साथ बीपीएल और सौ रुपए प्रतिमाह के फ्लेट रेट वाले उपभोक्ताओं को मिलाकर करीब 20 लाख उपभोक्ताओं को योजना से अलग रखने का प्रस्ताव भेजा गया है।

Chhattisgarh Smart Meter Plan

बिजली का बिल ही नहीं आएगा

इन मीटरों के लग जाने के बाद उपभोक्ता के पास बिजली का बिल नहीं आएगा, क्योंकि रिचार्ज करने के बाद उसकी जरूरत ही नहीं पड़ेगी। इसके बाद मैनुअल मीटर रीडिंग की आवश्यकता नहीं रह जाएगी। कर्मचारी स्टेशन से ही साफ्टवेयर के जरिए आसानी से प्रत्येक घर की बिजली की खपत की गणना कर सकते हैं। अब आप अच्छे से समझ गये होंगे की स्मार्ट मीटर क्या होता हैऔर कैसे काम करता है !

पीएम प्रधानमंत्री आवास योजना लिस्ट 2021 में अपना नाम कैसे खोजें ?

chhattisgarh,bihar bijli smart meter,smart meter,smart prepaid meter bihar,how to start small mineral water plant business,how to start mineral water plant business,smart meter reading,omg! chhattisgarh,how to start mineral water plant business in india,smart prepaid meters,raipur chhattisgarh,smart meter electricity,smart electricity meter,chhattisgarh capital,smart meter details in hindi,smart prepaid electric meter,smart prepaid meters india

Back to top button
close